धर्म विशेष

बामपंथ का सच

        किसी झूठ को यदि सौ बार बोलने से सत्य जैसा लगता है लेकिन वोह सत्य नही होता इसी को बामपंथी बिचार कहते है, अभी पुरे देश में ज्योति बाबु को भावभिनी श्रद्धांजली दी गई उनका सासन कैसा था जैसे कोई किराये के मकान में रहता है उसकी देख भाल व मरम्मत नही करता बंगाल को इतना मैनेज किया की वहाँ के उद्दोगपति पलायन को बाध्य हुए बंगाल देश का अत्यन्त पिछड़ा प्रान्त हो गया, बंगाल ऐसा घर है जिस पर छत तो है लेकन वर्षात का एक भी बूद पानी बाहर नही जाता। गरीब को गरीब बनाये रखना ही कर्तब्य समझा।
         मै नेपाल में संघ का प्रचारक था एक माओबादी मित्र मुझसे मिलने आए कहा की हम लोग नेपाल को बंगाल बना देगे, ऐसी सोच जिसमे प्रचंड जो ज्योति बाबु से केवल शासन करने का गुर सीखना चाहते थे उन्हें नेपाल की प्रगति से कोई मतलब नही है यह वो भी जानते है की नेपाल का हित भारत के साथ है चीन के साथ नही इस नाते पुष्पकमल दहाल सत्ता से हटने के बाद अपना संतुलन खो बैठे है उन्हें अपना पराया का ज्ञान नही है नेपाल की संस्कृति बामपंथी न होकर हिंदू संस्कृति है जिस दिन वहाँ से हिंदुत्व समाप्त हो जाएगा नेपाल एक ठुठे पेड़ के सामान हो जाएगा.

कोई टिप्पणी नहीं