धर्म विशेष

राजपूत सम्मेंलन ---दिघवारा----- छपरा, बिहार .

             
  ३० जून २०१३ को दिघवारा में धर्मजागरण द्वारा आयोजित राजपूत प्रतिनिधि सम्मलेन में घनघोर वर्षा के बावजूद जिस प्रकार उपस्थिति रही उससे लगता है, समाज तो जग ही रहा है -अपने उद्श्य विधर्मी हुए बंधू तथा समाज में ब्याप्त बुराई अपने हृदय को विशाल करते, समरसता सद्भाव को अपनाते हुए अपने बिछड़े बन्धुओ को ससम्मान स्वधर्म में सामिल कर हिंदुत्व और भारतीय राष्ट्र को मजबूत करेगा. 

            इस अवसर पर बीजेपी के राष्ट्रीय समिति के सदस्य पूर्व प्रदेश अध्यक्ष श्री गोपाल नारायण सिंह तथा समाज के बहुत सारे गणमान्य सज्जन सामिल होकर इस पवित्र कार्य को बल दिया, गोपाल बाबू ने दीप प्रज्वलन कर समुद-घाटन किया इस अवसर पर धर्मजागरण प्रान्त सह संयोजक श्री अमियभूषण जी का भाषण----बाप्पा रावल और हरित मुनि का संयुक्त संघर्ष गाथा हिन्दवी साम्राज्य की स्थापना अरब आक्रमण-कारियों को पराजित कर समझौते में अरब सेनापति की पुत्री मिहिर से बाप्पा का बिबाह यह भारत वर्ष के लिए महान दिन पुनः चन्द्रगुप्त -चाणक्य की याद दिलाने वाला, पृथ्बीराज चौहान, राणा सांगा, महाराणा कुम्भा, राणा प्रताप और क्षत्रपति शिवाजी इत्यादि का संघर्ष, विजय ही राजपूतों का इतिहास है इन महापुरुषों ने अपने से किन्ही प्रकार से हुए बिधर्मी बन्धुओ को पुनः उन्हें स्वधर्म में सामिल कर लिया करते थे आज हमें वही सामर्थ्य जुटाने की आवश्यकता है
.
           तमाम विद्वानों ने जागृत क्षत्रिय हिदू समाज के बारे में विचार ब्यक्त किये राजपूत समाज ही भारत को हमेशा परम वैभव की तरफ ले गया है यदि भारत से राजपूत समाज के इतिहास को निकल दिया जाय तो भारतीय इतिहास ही समाप्त हो जायेगा आखिर क्यों ---? हमें इस पर विचार करना होगा भगवन मनु कौन थे सम्पूर्ण मानव जाती तो उन्ही की ही संतान है इसका मतलब समाज का प्रत्येक ब्यक्ति पहले क्षत्रिय था बाद में समाज ब्यस्था हेतु जातियों में बट गया, धरती के प्रथम सम्राट महाराजा पृथु, राजा जनक इन सभी राजाओं ने मनुष्य रहने उठने, बैठने, शिक्षा, ग्राम और नगरों की रचना की  आगे भी यही क्षत्रिय समाज सम्पूर्ण हिन्दू समाज से बिड़े बंधुओं को वापसी की प्रेरणा देगा पुनः समाज मजबूत संस्कारित हो कर फिर भारत अपने--आप स्वस्थ होगा .

1 टिप्पणी

ZEAL ने कहा…

क्षत्रिय समाज सम्पूर्ण हिन्दू समाज से बिछड़े बंधुओं को वापसी की प्रेरणा देगा पुनः समाज मजबूत संस्कारित हो कर फिर भारत अपने--आप स्वस्थ होगा .

thanks for this beautiful and informative post.

.