धर्म विशेष

आज भी हम औरंगजेबी शासन में जी रहे है

    
 स्वतंत्रता के पश्चात् भी नंबर दो का नागरिक--! 
-----------------------------------------------------
हिन्दू समाज हजारो साल संघर्ष क़े बाद भी अपने ही देश में दुसरे नंबर क़े नागरिक क़े रूप में जी रहा है दिल्ली में सम्राट पृथ्बीराज चौहान क़े पतन क़े पश्चात् एक निरासा क़ा वाताबरण बन गया भारत पर तुर्कों, मुगलों क़े आक्रमणों की भरमार सी हो गयी, भारत पर मुगलों क़ा शासन हो गया फिर क्या था अकबर ने राजपूतो को मिलाकर हिन्दुओ को मुसलमान बनाने कि प्रक्रिया शुरू कि तो जोधाबाई क़े पुत्र जहागीर ने तो हद्द ही पार कर दी उसने सिक्ख गुरुओ की हिंसा, हत्या ही नहीं की बल्कि प्रयाग में जो बट बृक्ष था उसे कटवाकर शीशा गलाकर डाल दिया उसे जलाने क़ा प्रयत्न किया

सत्ता काले अंग्रेजों के हाथ---!
----------------------------------
पूरे देश में जजिया कर लगने लगा हिन्दुओ को तीर्थ यात्रा करना मुस्किल हो गया,जिस प्रकार बट बृक्ष नष्ट नहीं हुआ वह पुनः उगकर बड़ा होने लगा उसी प्रकार हिन्दू संघर्ष करने लगा, एक ओर उत्तर में गुरु गोविन्द सिंह, मेवाड़ क़े राणा राजसिंह, दक्षिण में क्षत्रपति शिवा जी हिन्दवी साम्राज्य हेतु लड़ रहे थे, दूसरी तरफ भारत क़ा साधू,संत खड़ा हो गया देश आजाद हो गया लेकिन सत्ता काले अंग्रेजो क़े हाथ में आ गयी कोई परिवर्तन नहीं आया। 

आज भी जजिया----!
------------------------
मै गोरखपुर  रेलवे स्टेशन पर ट्रेन के इंतजार में खड़ा था तब तक अजमेर सरीफ स्पेशल आकर खड़ी हो गयी मुस्किल से उसमे २०० ब्यक्ति रहे होगे पूरे देश में ८० से अधिक ट्रेने चलायी गयी है सरकारी खजाना लुटाया जा रहा है कुम्भ क़े बराबर दर्जा, एक तरफ मुसलमानों को हज कमेंटी क़े लिए हज हॉउस, हज जाने वालो को करोनो की छुट मिल रही है दूसरी तरफ हिन्दुओ को चाहे अमरनाथ यात्रा हो या वैष्णव देवी की यात्रा हो या कुम्भ अथवा अन्य कोई सबमे टैक्स पर टैक्स लगता जा रहा है ।

सत्ता कैथोलिक के पास--!
-----------------------------
हो भी क्यों न मनमोहन सिंह जो गुरु गोविन्द सिंह क़े अनुयाई है, जिन्होंने पिता-पुत्र सहित अपने आप को देश-धर्म क़े लिए बलिदान किया था, लेकिन आज वे कैथोलिक सोनिया क़े अनुयाई होने क़े कारण कहते है की देश क़े सभी संसाधनों पर पहला अधिकार मुसलमानों क़ा है, बिहार, तमिलनाडु, आंध्र व जहाँ ट्रष्ट बनाकर मंदिरों क़ा अधिग्रहण कर लिया गया उसकी आय अल्पसंख्यक क़े नाम पर मुसलमानों को सुबिधा उपलब्ध कराइ जा रही है। 

आखिर हिन्दू कब तक नंबर दो क़ा नागरिक बना रहेगा ---!
हमें अपने  पूर्बजो को याद कर धर्म बचाने हेतु खड़ा होना पड़ेगा बर्तमान सरकार हिन्दुओ को समाप्त करने पर लगी है। 

7 टिप्‍पणियां

सुज्ञ ने कहा…

सुन्दर स्तूत्य भाव

आचार्य जी ने कहा…

सुन्दर।

aarya ने कहा…

सादर वन्दे !
आपने एकदम सटीक बात कही है, वर्त्तमान की स्थिति गुलामो की तरह हो गयी है, आज भी देश पर कठमुल्लाओं और इसाईयत का ही राज चल रहा है | ऐसे में हिन्दुओं पर लगाने वाले यह जजिया कर हमें गुलाम बाटने के लिए काफी है | हे हिन्दू समाज उठो इससे पहले की तुम नष्ट हो जाओ |
रत्नेश त्रिपाठी

सत्य गौतम ने कहा…

जय भीम क्या आपने बाबा साहब का साहित्य पढ़ा है

दीर्घतमा ने कहा…

गौतम नमस्ते.
मैंने डॉ आंबेडकर क़े बहुत सरे साहित्य पढ़े है
मै उन्हें आधुनिक मनु मानता हू .

सुनील दत्त ने कहा…

बौद्धिक गुलाम हिन्दूओं को जगाने का आपका प्रयास सराहनीय है।

shiva jat ने कहा…

बहुत सुन्दर लिखा है हिंदूऔं से कर वसूल रहे हैं और मुल्लाओं को सहयोग दे रहे हैं। ऐसे में अगर कहीं गुरूगोविंद सिह की आत्मा ये सब देख रही होगी तो अपने और पुत्रों के बलिदान पर शर्म आ रही होगी लेकिन मनमोहन और सोनिया को तो बस मुल्ला ही नजर आ रहे हैं। यही कारण है कि एक आतंकी सोहराबुदीन की हत्या में तीन आईपीएस अधिकारी और एक ग्रह राज्य मंत्री जेल की सलाखों के पिछे हैं। जनता फिर भी नही समझती की कितनी बङी योजना के तहत हिंदुओं को समाप्त किया जा रहा है।