अक्तूबर, 2013 की पोस्ट दिखाई जा रही हैंसभी दिखाएं
होता जनसंख्या का असुतंलन और कटता-बटता भारत --------------!
कहीं सेकुलरिष्टों के तार अलकायदा व इंडियन मुजाहिदीन से जुड़े तो नहीं--------!
लाल,बाल,पाल की वेदना का प्रकटीकरण है राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ------------!
दंगाइयों का नहीं मानसिकता का दोष है--! क्या हम उस मानसिकता को समाप्त करने की इक्षा शक्ति रखते हैं---?
गृहमंत्री के सेकुलर विचार का दोष है वे समझ नहीं पा रहे है की वे मुसलमानों का हित नहीं कर रहे हैं-----!
ज़्यादा पोस्ट लोड करें कोई परिणाम नहीं मिला